बारिश के बाद मौसम विभाग ने जारी किया एक और अलर्ट, पढ़ें ये खबर

बारिश के बाद मौसम विभाग ने जारी किया एक और अलर्ट, पढ़ें ये खबर

देहरादून। बीती रात हुई बारिश के बाद मौसम विभाग ने एक और अलर्ट जारी कर दिया है। यदि मौसम विभाग की मानें तो राज्य में अगले 12 घंटों के दौरान ओलावृष्टि और आंधी चलने के आसार नज़र आ रहे हैं। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में बुधवार की रात करीब पौने दस बजे अचानक आई बारिश ने जहां गर्मी से राहत दी वहीं आंधी ने शहर की बत्ती गुल कर दी। देखते ही देखते शहर में कई जगहों पर घुप अंधेरा छा गया।

इस दौरान रेसकोर्स में दो गाड़ियों के ऊपर पेड़ गिर गया। वहीं प्रेमनगर में भी एक बड़ा पेड़ गिरने से नुकसान होने की खबर है। वहीं झाझरा में आंधी से विद्युत लाइनों में फाल्ट आ गया, जिससे कई इलाकों की बिजली गुल हो गई। देर रात तक पुलिस और आपदा कंट्रोल रूम में आंधी-बारिश से नुकसान होने की खबरें आती रहीं।

वहीं, उत्तराखंड के ज्यादातर क्षेत्रों में अगले 12 घंटों के दौरान ओलावृष्टि और आंधी चलने के आसार हैं। ज्यादातर क्षेत्रों में बादल छाए रह सकते हैं। कुछ इलाकों में हल्की बारिश भी हो सकती है। मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि 17 और 18 जून को प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में मध्यम बारिश का अनुमान है। कुछ इलाकों में गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं।

राजधानी दून समेत आसपास के इलाकों में हुई हल्की बारिश से सुबह और शाम की गर्मी से लोगों को कुछ राहत मिली। हालांकि दोपहर के समय सूरज ने कहर बरपाया। जिसके कारण शहर का अधिकतम तापमान 39 डिग्री रिकार्ड किया गया।

मंगलवार देर रात और बुधवार तड़के दून समेत आसपास के क्षेत्रों में हल्की बारिश हुई। साथ ही इस दौरान आंधी भी चली। हल्के बादल छाए रहने से सुबह धूप भी फीकी रही। इसके चलते सुबह के समय लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली। हालांकि दिन बढ़ने के साथ-साथ सूरज की तपिश बढ़ती गई और दोपहर तक गर्मी फिर असहनीय हो गई।

तेज धूप, गर्मी और उमस के चलते लोग बेहाल नजर आए। इस दौरान ज्यादातर सड़कों पर इक्का-दुक्का वाहन नजर आए। शाम के समय हल्की हवाएं चलने से लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली। मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि बृहस्पतिवार को राजधानी दून समेत आस-पास के इलाकों में हल्के बादल छाए रह सकते हैं। अधिकांश क्षेत्रों में अच्छी धूप खिली रहेगी।

गढ़वाल के विभिन्न हिस्सों में बुधवार को मौसम ने करवट ली। चमोली जिले में बदरीनाथ और हेमकुंड साहिब सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश और निचले क्षेत्रों में आंधी के साथ बूंदाबांदी हुई। केदारनाथ में दिन में कई बार हल्की बारिश हुई। इससे पूर्व मंगलवार रात को केदारनाथ में तेज बारिश के साथ बर्फ की फुहारें गिरी, जिससे धाम में ठंड बढ़ गई थी।

चमोली जिले की पिंडरघाटी में मंगलवार शाम को तेज आंधी तूफान आने से बिजली लाइनें क्षतिग्रस्त होने से क्षेत्र में बिजली सप्लाई ठप पड़ी है। टिहरी जिले में बुधवार सुबह जमकर बारिश होने से क्षेत्र के जंगलों की आग पूरी तरह शांत हो गई।

श्रीनगर क्षेत्र में तड़के करीब दो घंटे की सामान्य बारिश से बाद लोगों ने गर्मी से राहत महसूस की। चौरास के पास के जंगल में धधकती आग भी बारिश होने से बुझ गई है। कोटद्वार, कालागढ़ और निकटवर्ती पर्वतीय क्षेत्रों में तेज बारिश होने से भीषण गर्मी से लोगों को राहत मिली, लेकिन बगीचों में आम और लीची की फसल को नुकसान पहुंचा। कई पेड़ों के गिरने से विद्युत आपूर्ति बाधित रही।

Share