बीस साल पहले दिखना हो चुका था बन्द, कार दुर्घटना में लौट आयी आँखों की रौशनी

बीस साल पहले दिखना हो चुका था बन्द, कार दुर्घटना में लौट आयी आँखों की रौशनी

वारसा। 20 साल पहले एक आंख की रोशनी गंवा चुके पोलैंड के एक व्यक्ति की कार से एक्सीडेंट होने के बाद रोशनी वापस आ गई। गोरजोव विकोपोलस्की शहर के जानुस्ज गोराज का यह एक्सीडेंट 2018 में हुआ था, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स में अब चर्चा में आया। साल 2000 में कई तरह की एलर्जी के साइड इफेक्ट्स के चलते उनकी बाईं आंख की रोशनी चली गई थी।

गोरजोव विकोपोलस्की जो भी देखते दाईं आंख से ही देख पाते थे, लेकिन 2018 में एक दिन सड़क पार करते हुए कार से उनकी टक्कर हो गई। इस दौरान उनका सिर कार से टकराया। न सिर्फ सिर बल्कि कूल्हे में भी चोटें आईं। हालांकि, उस वक्त उन्हें नहीं पता था कि यह एक्सीडेंट उनके लिए भविष्य में खुशियां लाएगा।

हॉस्पिटल में उनके कूल्हे की सर्जरी हुई और कुछ हफ्तों के बाद जब उन्होंने आंखें खोली तो वह यह देखकर हैरान रह गए। उन्हें चीजें पहले से ज्यादा-ज्यादा साफ दिखने लगीं। उन्होंने डॉक्टरों को यह बात बताई, लेकिन वे भी यह नहीं बता सके कि सर्जरी कूल्हे की हुई और आंख की रोशनी कैसे वापस आ गई।

हालांकि, उनके एक डॉक्टर का कहना था कि ऐसा उन दवाओं के असर के कारण हो सकता है, जो कूल्हे की सर्जरी के वक्त ली होंगी। आज तक भी कोई डॉक्टर यह नहीं बता पाया कि किस वजह से गोराज की आंख की रोशनी वापस आई होगी।

गोराज ने बताया कि हॉस्पिटल बेड पर जब मुझे बाईं आंख से भी साफ-साफ दिखाई देने लगा तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मुझे सड़क पर लोग साफ दिख रहे थे। मैं गाड़ियों के नंबर पढ़ पा रहा था और फोन पर मैसेज भी साफ दिखाई दे रहे थे। मेरी जिंदगी बदल गई थी। यह वाकई चमत्कार था।

मुझे डॉक्टरों ने कहा है कि वे मेरी आंख की रोशनी वापस आने को लेकर स्टडी करना चाहेंगे, जिसके लिए कई परीक्षण करने होंगे मगर मैंने इससे इनकार कर दिया है। अब मेरी नॉर्मल लाइफ वापस आ गई है, इसलिए मैं और कोई चिकित्सकीय जांच नहीं चाहता।

Share