भाजपा विधायक के द्वारा ‘मोदी आरती’ जारी करने पर हमलावर हुआ विपक्ष, जमकर साधा निशाना

भाजपा विधायक के द्वारा ‘मोदी आरती’ जारी करने पर हमलावर हुआ विपक्ष, जमकर साधा निशाना

देहरादून। उत्तराखंड सरकार के मंत्री और विधायक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुणगान करते हुए सार्वजनिक मंच से मोदी आरती जारी की है। इस पर प्रदेशभर में विपक्ष भाजपा के खिलाफ हमलावर हो गया है। विपक्षी दलों के नेताओं ने भाजपा विधायक पर कईं आरोप लगाते हुए जमकर निशाना साधा।

उत्तराखंड क्रांति दल के मुख्य केंद्रीय प्रवक्ता सतीश सेमवाल ने कहा कि उच्च शिक्षा राज्य मंत्री और भाजपा विधायक की ओर से हनुमान चालीसा एवं दुर्गा आरती की तर्ज पर मोदी आरती लांच किया जाना प्रदेश की जनता के साथ मजाक है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है, जबकि अस्पतालों में पर्याप्त सुविधाएं नहीं है। मजदूरों की आवाजाही व भोजन के लिए भी सरकार की ओर से उचित व्यवस्था नहीं की गई है। आरोप लगाया कि सरकार के एक मंत्री और विधायक ने चाटुकारिता की सारी हदें लांघ दी।

वहीं कांग्रेस नेता गरिमा दसौनी ने कहा कि भाजपा विधायक ने मोदी आरती बनाकर उन्हें भगवान का दर्जा देने की कोशिश की है जो सरासर गलत है। उन्होंने कहा कि भाजपा विधायकों एवँ नेताओं ने अपना उल्लू सीधा करने के लिए सारी सीमाएं लांघ दी हैं, यहाँ तक कि वे अब भगवान को भी नहीं छोड़ रहे हैं और अपना मतलब निकालने के लिये भगवान की आरती का सहारा ले रहे हैं।

बहरहाल मोदी आरती के सार्वजनिक होने पर प्रदेशभर में हलचल तेज हो गई है। इस मुद्दे को लेकर सभी लोग अपने अलग-अलग तर्क पेश कर रहे हैं। भाजपा नेतागण जहां इस आरती के गुणगान करते नहीं थक रहे हैं तो वहीं विपक्षी नेता इसे चाटूकारिता का ताज़ा उदाहरण बता रहे हैं।

 

Share