क्रेडिट कार्ड धारकों के लिए बड़ी सूचना, जरूर पढ़ें

क्रेडिट कार्ड धारकों के लिए बड़ी सूचना, जरूर पढ़ें

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने लाॅकडाउन के कारण हाेने वाली परेशानियाें के मद्देनजर सभी तरह के रिटेल और टर्म लाेन की अदायगी 3 महीने के लिए स्थगित कर दी थी। इसमें क्रेडिट कार्ड को भी शामिल किया गया था। इसके बाद ज्यादातर क्रेडिट कार्डधारक यह मानकर चल रहे थे कि अगले 3 माह तक उन्हें कोई बिल नहीं चुकाना होगा। लेकिन ऊंचे ब्याज दर के कारण बड़े पैमाने पर डिफॉल्ट बढ़ने की आशंकाओं के चलते बैंक और कंपनियां क्रेडिट कार्डधारकों को पेमेंट में कोई ढील नहीं देने का मन बना चुकी हैं। क्रेडिट कार्डधारकों को अपनी बकाया राशि समय पर जमा करानी होगी। ऐसा नहीं करने पर उनका सिबिल स्कोर खराब हो सकता है।

कई कंपनियों ने पहले ही अपनी तय लिमिट के करीब आ रहे कार्डधारकों द्वारा कार्ड पेमेंट पर अंकुश लगाना भी शुरू कर दिया है। खुद इंडियन बैंकर्स एसाेसिएशन (आईबीए) ने भी क्रेडिट कार्ड धारकों को चेतावनी जारी कर दी है कि क्रेडिट पर ब्याज बहुत ज्यादा होता है, इसलिए वे न्यूनतम भुगतान समय पर करें। इससे कार्डधारकों का सिबिल स्कोर खराब नहीं हाेगा। इसके अलावा शेष बकाया राशि पर उन्हें पहले की तरह ही ब्याज चुकाना होगा।

कर्ज अदायगी टाली है, माफ नहीं किया

  • आरबीआई ने कर्ज को पूरी तरह माफ नहीं किया गया है, सिर्फ तीन महीने की छूट दी है। 3 माह बिल न जमा कराने वाले ग्राहकों को चौथे महीने एक साथ पूरा बकाया भरना होगा।
  •  न्यूनतम राशि न जमा कराने वालों को पहले की ही तरह विलंब शुल्क और पेनल्टी देनी होगी।

ऐसे समझें

बैंक बाजार के सीईओ आदिल शेट्‌टी ने बताया कि अगर आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट 1 लाख रुपए है और आपने 30 हजार रुपए खर्च कर लिए हैं, तो आपको इसे तत्काल चुकाना होगा। अन्यथा 42% की दर से आपको अगले तीन माह में 3,150 रुपए अतिरिक्त ब्याज देना पड़ेगा।

न्यूनतम राशि चुकाने के बाद क्रेडिट स्कोर खराब नहीं होगा

इंडियन बैंकर्स एसाेसिएशन ने कहा कि अगर आपके क्रेडिट कार्ड का बिल बकाया है, तो कार्ड जारी करने वाली बैंक और एनबीएफसी द्वारा तय की गई न्यूनतम राशि देना होगी। अन्यथा आपका क्रेडिट स्कोर बिगड़ सकता है। न्यूनतम राशि चुकाने के बाद शेष बची बकाया राशि से आपका क्रेडिट स्कोर खराब नहीं होगा। लेकिन बकाया राशि पर ब्याज लगता रहेगा। यह देखने में आया है कि क्रेडिट कार्ड पर ब्याज दर बहुत ज्यादा होता है। इसलिए आपको बकाया राशि चुकाने का निर्णय इसके अनुसार ही लेना चाहिए।

Share