रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने एयरफोर्स अधिकारियों संग की बैठक, कही ये बात

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने एयरफोर्स अधिकारियों संग की बैठक, कही ये बात

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को एयरफोर्स की बैठक में चीन से सीमा विवाद के मुद्दे पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि वायुसेना हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहे। पूर्वी लद्दाख में वायुसेना की तैनाती से विरोधियों में कड़ा संदेश गया है। पिछले साल बालाकोट में एयरस्ट्राइक के दौरान भी भारतीय वायुसेना की वीरता पूरी दुनिया ने देखी।

राजनाथ सिंह ने कहा कि वायुसेना ने पिछले कुछ महीनों में अपनी क्षमताओं को बढ़ाया है। हम देश की रक्षा के लिए पूरी तरह तैयार हैं। देश की जनता को भी सेना पर पूरा भरोसा है।

एयरफोर्स की ताकत और बढ़ाने पर जोर
बैठक में वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने कहा कि एयरफोर्स कम समय में ऑपरेशन को अंजाम देने के साथ स्ट्रैटजिक तरीके से भी खतरों से निपटने के लिए तैयार थी। उन्होंने वायुसेना की ताकत और बढ़ाने पर जोर दिया।

राफेल की तैनाती पर चर्चा होगी
एयरफोर्स की बैठक में अगले दो दिन पूर्वी लद्दाख की स्थिति का रिव्यू करने और अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, उत्तराखंड समेत चीन से लगी सीमा के सभी सेंसेटिव इलाकों में एयरफोर्स की क्षमता बढ़ाने पर फोकस रहेगा। वायुसेना के कमांडर एयर डिफेंस सिस्टम का रिव्यू भी करेंगे।

लद्दाख में फाइटर जेट राफेल के पहले बैच की तैनाती पर भी चर्चा होगी। न्यूज एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक 5 राफेल का पहला बैच इसी हफ्ते भारत आ सकता है। इन्हें 29 जुलाई को अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर वायुसेना में शामिल किया जाएगा। फाइनल इंडक्शन सेरेमनी 20 अगस्त को होगी।

Share