देश में बढ़ रहा कोरोना से मौतों का आंकड़ा, 15 दिन में मारे जा चुके हैं इतने लोग

देश में बढ़ रहा कोरोना से मौतों का आंकड़ा, 15 दिन में मारे जा चुके हैं इतने लोग

नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस की स्थिति गंभीर होती जा रही है। संक्रमितों का आंकड़ा 500 पार कर गया। 15 दिन में संक्रमण से 11 लोगों की जान जा चुकी है। बुधवार सुबह मदुरै में 54 वर्षीय कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई। तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी विजय भास्कर ने कहा कि मरीज को लंबे समय से डायबिटीज और ब्ल्डप्रेशर की समस्या थी। तमिलनाडु में कोरोना से यह पहली मौत है। इससे पहले मंगलवार को महाराष्ट्र में एक संक्रमित की मौत हुई थी। यहां 63 साल के बुजुर्ग की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उन्हें भी पहले से हाई ब्लडप्रेशर की समस्या थी। अब तक जिन 11 लोगों की जान गई है, उनमें से 8 को शुगर या ब्लडप्रेशर की समस्या थी।

इस सभी मृतकों को पहले से थी गंभीर बीमारियां

तारीख जगह उम्र बीमार
10 मार्च कलबुर्गी (कर्नाटक) 75 साल डायबिटीज
13 मार्च दिल्ली 68 साल डायबिटीज
17 मार्च मुंबई (महाराष्ट्र) 64 साल डायबिटीज
18 मार्च नवांशहर (पंजाब) 70 साल डायबिटीज
21 मार्च मुंबई (महाराष्ट्र) 63 साल डायबिटीज
21 मार्च पटना (बिहार) 38 साल किडनी की समस्या
24 मार्च मुंबई (महाराष्ट्र) 63 साल डायबिटीज
25 मार्च मदुरै (तमिलनाडु) 54 साल डायबिटीज

अब तक 50 से कम उम्र वाले केवल एक व्यक्ति की जान गई

सोमवार को बंगाल में 57 साल के अधेड़ और हिमाचल में अमेरिका से लौटे निर्वासित तिब्बती की मौत हो गई। इससे पहले रविवार को मुंबई में 63 साल के एक मरीज की मौत हो गई थी। इसी दिन पटना में 38 वर्षीय मरीज सैफ की मौत हो गई। सैफ डायबिटीज का मरीज था, उसकी किडनी भी खराब थी। 50 से कम उम्र में मौत का यह पहला केस है। मुंगेर का रहने वाला सैफ हाल ही में कतर से आया था। 20 मार्च को एम्स में भर्ती हुआ था।

महाराष्ट्र में तीन मौतें, तीनों मुंबई के मामले
महाराष्ट्र में पिछले आठ दिन में कोरोना पॉजिटिव तीन लोगों की मौत हुई है। तीनों मामले मुंबई के हैं। तीनों ने ही मुंबई के कस्तूरबा हॉस्पिटल में दम तोड़ा। सबसे पहले 17 मार्च को 64 साल के कोरोना पॉजिटिव बुजुर्ग की मौत हुई। 22 मार्च को 69 साल के कोरोना संदिग्ध बुजुर्ग की मौत हुई। बाद में उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

Share