महिलाओं के लिए प्रेरणा स्वरुप थीं सुषमा स्वराज: मुन्नी देवी

महिलाओं के लिए प्रेरणा स्वरुप थीं सुषमा स्वराज: मुन्नी देवी

देहरादून। थराली विधानसभा क्षेत्र की विधायक मुन्नी देवी ने सुषमा स्वराज के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि सुषमा जी मातृ शक्ति के लिए प्रेरणा स्वरूप थी। 25 वर्ष की उम्र में वह संसद तक पहुंची। तब से और अंतिम सांस तक सुषमा जी ने देश की सेवा की और देशवासियों के दुख और सुख में हमेशा खड़ी रही। उन्होंने विदेश मंत्री रहते हुए विदेशों में मुसीबत में घिरे अपने नागरिकों की मदद की।

मुन्नी देवी ने कहा कि मेरे पति अक्सर सुषमा जी के महानता के कार्यों को बताते थे और उन्हें हमेशा आयरन लेडी कहकर पुकारते थे। देश ने सुषमा जी के रूप में उच्च कोटि की वक्ता, कुशल राजनेता और जन-जन को प्यार करने वाली एक मात्र शक्ति को खो दिया है।

उन्होंने कहा “मैं तमाम थराली की जनता की तरफ से उन्हें नमन करती हूं और उनकी आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना करती हूं।” मुन्नी देवी ने हमारे संवाददाता नित्यानंद भट्ट से बातचीत में कहा कि माननीय गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कश्मीर से धारा 370 और 35 ए हटाकर जिस साहस का परिचय दिया है, उसके लिए पूरा हिंदुस्तान उन्हें हजारों बार प्रणाम करता है।

उन्होंने कहा कि वास्तव में 72 वर्षों बाद अब कश्मीर भारत का अंग बन पाया है। उन्होंने आशा जताते हुए कहा कि हमें विश्वास है कि अब कश्मीर वास्तव में स्वर्ग बन पाएगा और वहां विकास होगा। यही नहीं राह भटके युवाओं को रोजगार मिलेगा एवँ कश्मीर घाटी में शांति और अमन लौटकर आएगा।

मुन्नी देवी ने उम्मीद जताई कि अब वहां के युवाओं के हाथों में बंदूक नहीं, पत्थर नहीं रोजगार होगा। अब पर्यटक बेखौफ कश्मीर की वादियों में जा सकेंगे। मोदी जी के इस सराहनीय कदम का पूरा हिंदुस्तान स्वागत कर रहा है। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में देश की जनता से जो धारा 370 हटाने का वादा किया था पूरा किया। उन्होंने कहा कि मोदी जी जो वादा करते हैं, उसे पूरा करते हैं। यह हिंदुस्तान की जनता ने देख लिया है।

मुन्नी देवी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी हम सब के मार्गदर्शक हैं और हम प्रधानमंत्री जी के सिपाही। हम सबको मिलकर ऐसा भारत बनाना है जहां हर ओर खुशहाली हो, अमन चैन हो। मुन्नी देवी ने कहा कि “मैं साथ ही थराली की जनता को विश्वास दिलाती हूं कि मेरे पति जो अधूरे काम छोड़कर गए, आपकी बेटी, आपकी बहन मुन्नी उन कार्यों को पूरा करेगी। मैं अपने क्षेत्र की जनता की समस्या जानती हूं व उन्हें हर हाल में पूरा करूंगी।”

उन्होंने कहा कि क्षेत्र की जनता के लिए मेरे दरवाजे हमेशा खुले हैं। क्षेत्र की जनता के दुख व सुख में मैं उनके साथ हूं और हमेशा रहूंगी। मुन्नी देवी ने कहा- “मेरे पति ने हमेशा आपकी सेवा की। अब मैं आपकी सेविका बनकर कार्य करूंगी।” मुन्नी देवी ने कहा कि क्षेत्रीय जनता ने जो मुझे प्यार और स्नेह दिया है, इसकी मैं हमेशा कर्जदार रहूंगी।

Share