पुलिसकर्मी ने पत्नी समेत 5 लोगों को मारी गोली, 4 की मौत, बच्ची घायल

पुलिसकर्मी ने पत्नी समेत 5 लोगों को मारी गोली, 4 की मौत, बच्ची घायल

मोगा। पंजाब पुलिस के हेड कांस्टेबल ने गांव जलालपुर में घरेलू विवाद के चलते रविवार सुबह करीब 6 बजे पत्नी और 3 ससुराल वालों (सास-साला और साले की पत्नी) की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना में साले की 10 साल की बच्ची भी घायल है। दरअसल, शनिवार शाम आरोपी कांस्टेबल का ससुराल में विवाद हुआ था। इसके बाद धर्मकोट पुलिस उसे लेकर चली गई थी। आरोपी ने सुबह 6 बजे लौटकर एके-47 से वारदात को अंजाम दिया। बाद में उसने समर्पण कर दिया।

आरोपी कुलविंदर सिंह मोगा पुलिस लाइन में दंगाविरोधी दल को लीड करता है। उसका पत्‍नी राजविंदर कौर के साथ लंबे समय से विवाद चल रहा था। झगड़े के बाद पत्‍नी मायके चली जाती थी। इस बात पर कुलविंदर ससुराल के लोगों से भी बेहद खफा था।

पंजाब पुलिस में हेड कांस्टेबल कुलविंदर सिंह।- फाइल फोटो

पंजाब पुलिस में हेड कांस्टेबल कुलविंदर सिंह (फाइल फोटो)

आरोपी कांस्टेबल ने ससुराल पहुंचते ही सरकारी एके- 47 राइफल निकाली और गोलीबारी शुरू कर दी। घटना में पत्‍नी राजविंदर कौर, साला जसकरण सिंह और साले की पत्‍नी इंद्रजीत कौर की मौके पर ही मौत हो गई। 65 वर्षीय सास सुखविंदर कौर को गंभीर हालत में मोगा के सिविल अस्पताल में लाया गया था। यहां उपचार के दौरान उसकी भी मौत हो गई।

घटना में साले जसकरण सिंह की 10 साल की बेटी जश्‍नप्रीत कौर घायल हो गई। वहीं, छोटे साले और मारे गए साले के 2 बच्चों ने पड़ोसियों के घर में छिपकर जान बचाई। बच्ची जश्‍नप्रीत कौर को मथुरादास सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जश्नप्रीत का कहना है कि उसके फूफा ने जमीन के विवाद के चलते घर में आकर सोते समय परिवार पर गोलियां चलाई हैं।

वारदात के बाद आरोपी कुलविंदर ने छत पर चढ़कर जोर से चीखने लगा। पुलिस के पहुंचने पर आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस के मुताबिक, प्रारंभिक जांच में पता चला है कि इंद्रजीत कौर उसकी दूसरी पत्नी थीं। वह विवाद के बाद बेटी को लेकर मायके चली गई थीं।

Share