सात हजार रुपये लेकर चंपत हुआ बन्दर, जानिए फिर क्या हुआ

सात हजार रुपये लेकर चंपत हुआ बन्दर, जानिए फिर क्या हुआ

देहरादून। गहरी नींद में सो रहे एक व्यक्ति की कमीज को बंदर उठा ले गया। कमीज की जेब में सात हजार रुपए, जरूरी दस्तावेज तथा गाड़ी की चाबी थी। कमलेश्वर नामक व्यक्ति ने पुलिस को सूचना दी कि एक बंदर किसी के कपड़े लिए घूम रहा है। उक्त मामला जनपद देहरादून के ऋषिकेश क्षेत्र में थाना मुनिकीरेती के ढालवाला का है।

कुछ खाने को फेंका गया तो बंदर ने कपड़े छोड़ दिए। कमीज में सात हजार रुपए, आईडी और गाड़ी की चाभी है। शनिवार की दोपहर चीनी गोदाम रोड ढालवाला में चाय की दुकान चलाने वाले कमलेश्वर कोठारी ने पुलिस को फोन से सूचना दी कि एक बंदर किसी की कमीज उठा ले आया है।

bander

कमलेश्वर के मुताबिक बंदर अपने साथ कमीज लेकर घूम रहा है, जब उन्होंने उसे खाने की वस्तु दी तो उसने कमीज नीचे छोड़ दी। सूचना पाकर चौकी प्रभारी ढालवाला विनोद कुमार शर्मा ने दो कांस्टेबल को मौके पर रवाना किया।

पुलिस कर्मियों ने छोड़ी गई कमीज से आईडी देखने के बाद व्यक्ति की तलाश की तो उसकी पहचान सुरेश कुमार यादव पुत्र आदित्य राम यादव निवासी स्टार पोस्ट ऑफिस पीडी थाना कौंधियारा जिला इलाहाबाद के रूप में हुई। पुलिस कमीज लेकर चौकी आ गई और सुरेश कुमार यादव को चौकी बुलाया।

चौकी पहुंच सुरेश ने बताया कि वह हिलवेज कंपनी में ट्राला चलाता है। चीनी गोदाम रोड पर ट्राला खड़ा कर वह सो गया था। उसी दौरान बंदर ने केबिन के अंदर घुसकर उसकी कमीज उठाकर चलता बना। वे काफी देर से कमीज में रखे दस्तावेज, रुपयों और गाड़ी की चाभी को लेकर परेशान थे। मौके पर पुलिस ने सुरेश कुमार यादव को उसके 7000 रुपए, आधार कार्ड, पैन कार्ड और गाड़ी की चाभी सौंप दी।

Share