सिक्युरिटी गार्ड को धमकाने पर शाहरुख को मिली क्लीनचिट

सिक्युरिटी गार्ड को धमकाने पर शाहरुख को मिली क्लीनचिट

मुम्बई। बॉलीवुड के किंगखान अक्सर विवादों में घिरे रहते हैं। ऐसे ही एक विवादित मामले में शाहरुख खान को क्लीनचिट मिल गयी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार साल 2012 में इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियंस और केकेआर के एक मैच के दौरान हुए झगड़े के मामले में शाहरुख खान के खिलाफ मुंबई पुलिस ने मामला रद्द कर दिया है। कोर्ट ने शाहरुख के खिलाफ दर्ज हुई को शिकायत को ख़ारिज करते हुए कहा कि शाहरुख ने उस दौरान किसी के बदसलूकी नहीं की और न ही बच्चों के सामने अशिष्ट भाषा का प्रयोग किया। वह शराब के नशे में भी नहीं थे। जब यह घटना घटी तो बच्चे वहां से जा चुके थे। ऐसे में एफआईआर में बच्चों को मानसिक यातना देने की बात सही नहीं कही जा सकती।

आपको बता दें कि 11 मई, 2015 को अमित मारू नाम के सोशल एक्टिविस्ट ने इस मामले में शाहरुख खान के खिलाफ मुंबई में मामला दर्ज कराया था। इसका संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन को मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपने को कहा था। इसी रिपोर्ट को बुधवार को मरीन ड्राइव पुलिस ने सौंपा जिस पर कोर्ट ने शाहरुख को क्लीन चिट देते हुए मामले को बंद करने के आदेश दिए।

images (1)

गौरतलब है कि शाहरुख खान वानखेडे स्टेडियम के सिक्युरिटी स्टाफ और अधिकारियों से भिड़ गए थे। शाहरुख का कहना था कि उनमें से किसी ने उन्हें अपशब्द कहे और उनके बच्चों के साथ बुरा बर्ताव किया गया। वहीं, अधिकारियों का कहना था कि शाहरुख नशे में थे और झगड़े की शुरुआत उन्होंने ही की थी। बाद में शाहरुख खान ने माना कि उन्हें ऐसा बर्ताव नहीं करना चाहिए था। मुंबई क्रिकेट असोसिएशन ने शाहरुख पर वानखेडे स्टेडियम में दाखिल होने पर पांच साल का बैन लगा दिया गया था। यह बैन मुंबई क्रिकेट असोसिएशन की मैनेजिंग कमेटी ने लगाया था, जिसमें दिवंगत कांग्रेसी नेता विलासराव देशमुख भी शामिल थे।

Share