सुशांत केस: बिहार से आए पुलिस अधिकारी विनय तिवारी को जबरदस्ती किया गया क्वारन्टीन

सुशांत केस: बिहार से आए पुलिस अधिकारी विनय तिवारी को जबरदस्ती किया गया क्वारन्टीन

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच का नेतृत्व करने के लिए बिहार से मुंबई पहुंचे आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को मुंबई में बीएमसी अधिकारियों द्वारा जबरदस्ती क्वारन्टीन कर दिया गया है। बिहार पुलिस पहले ही मुबंई पुलिस पर इस मामले में उनकी मदद नही करने का आरोप लगा चुकी है। जिसके बाद बिहार पुलिस ने इस मामले की जांच के लिए मुंबई में बिहार पुलिस को टीम को लीड करने के लिए आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को भेजा है।

दरअसल नियम के मुताबिक कोई व्यक्ति अगर 5 दिन दिन से ज्यादा के लिए किसी अन्य राज्य से आता है फ्लाइट से तो मुंबई में उसे कॉरेन्टीन होना पड़ता है। इसी लाइन पर बीएमसी ने कॉरेन्टीन का ठप्पा उनके हाथ पर मारा है। बिहार पुलिस एससोसिएसन के अध्यक्ष ने इस मामले पर बयान देते हुए कहा है कि आईपीएस ऑफिसर को पहले आईपीएस हॉस्टल में रूकने की जगह नहीं दी गई। ऐसे में जब खुद उन्होंने अपनी व्यवस्था की तो उनसे उनका ठिकाना पूछा गया। पता मिलते ही बीएमसी ने विनय तिवारी को कोरोना के डर से कॉरेन्टीन कर दिया है।

बिहार पुलिस एससोसिएसन के अध्यक्ष ने कहा कि पुलिस अधीक्षक विनय तिवारी को BMC ने जबरन क्वारंटाईन किया है। कानून के साथ वर्दी पर प्रतिबंध उचित नही। देश की वर्दी एक है जो कानून की रक्षा, जनता की सुरक्षा और न्याय का प्रतीक है।

सूत्र के अनुसार पटना के सिटी SP विनय तिवारी को कोरेन्टीन किए जाने पर बिहार पुलिस ने आपत्ति जताई है। विनय तिवारी को इस तरह से कोरेन्टीन करना गलत है।बिहार पुलिस ने इस कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा है कि जिस फ्लाइट से विनय गए उसी फ्लाइट से गए अन्य व्यक्तियों को क्यों नहीं कोरेन्टीन किया गया। पटना पुलिस के 4 लोगों की टीम जो पहले से काम कर रही थी उनको कोरेन्टीन क्यों नहीं किया गया था।

विनय तिवारी के मुंबई जाने की जानकारी पत्र के जरिए मुम्बई पुलिस को दी गयी थी। उस समय बिहार पुलिस को इसकी जानकारी क्यों नहीं दी गयी। एयरपोर्ट पर क्यों नहीं स्टाम्प लगाया गया। इसी वजह से दीपेश से पूछताछ के काम को भी रोकना पड़ा। पूछताछ पूरी नहीं हो सकी।

बिहार पुलिस का ये भी कहना है कि पुलिस अनुसंधान का काम आवश्यक सेवा में आता है। इस काम को कर रहे पुलिस अधिकारी को कोरेन्टीन नहीं किया जा सकता है।

सुशांत सिंह राजपूत के पिता के.के.सिंह (74) ने रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार के सदस्यों सहित और छह अन्य लोगों के खिलाफ उनके बेटे को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला पटना में दर्ज कराया है। इन सभी के खिलाफ पटना में पुलिस ने भादंसं की धाराओं 341, 342 (आपराधिक तरीके से बंधक बनाना), 380 (जिस घर में रहें, वहां चोरी करना), 406 (आपराधिक विश्वासघात), 420 (धोखाधड़ी) और 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना) में मामला दर्ज किया है। सिंह ने टीवी और फिल्म अभिनेत्री चक्रवर्ती पर आरोप लगाया कि उसने अपना करियर संवारने के लिए मई 2019 में सुशांत से दोस्ती की। बिहार पुलिस की टीम इसी जांच के सिलसिले में मुंबई पहुंची हुई है।

Share