रक्षाबंधन पर भावुक हुई सुशांत की बड़ी बहन रानी, लिखी ये बात

रक्षाबंधन पर भावुक हुई सुशांत की बड़ी बहन रानी, लिखी ये बात

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत को गुजरे 50 दिन हो गए हैं। आज जहां दुनियाभर में रक्षाबंधन की धूम है और बहनें भाई की कलाई पर राखी बांधकर उनके प्रति अपना प्यार जता रही हैं और उनसे जीवनभर उनकी रक्षा का वचन ले रही हैं। वहीं, सुशांत की बहनों की आंखों में आंसू हैं और दिल में अपने भाई से हमेशा के लिए बिछड़ने का दर्द है। अभिनेता की बड़ी बहन रानी अपने इस दर्द को छुपा नहीं सकीं। उन्हें एक भावुक नोट के जरिए इसे साझा किया है। रानी ने नोट में लिखा है-

गुलशन (सुशांत का घर का नाम), मेरा बच्चा
आज मेरा दिन है।
आज तुम्हारा दिन है।
आज हमारा दिन है।
आज राखी है।

पैंतीस साल के बाद ये पहला अवसर है, जब पूजा की थाल सजी है, आरती का दिया भी जल रहा है, हल्दी-चंदन का टीका भी है, मिठाई भी है। राखी भी है, बस वो चेहरा नहीं है, जिसकी आरती उतार सकूं। वो ललाट नहीं है, जिसपर टीका सजा सकूं। वो कलाई नहीं, जिस पर राखी बांध सकूं। वो मुंह नहीं जिसे मीठा कर सकूं। वो माथा नहीं, जिसे चूम सकूं। वो भाई नहीं, जिसे गले लगा सकूं।

वर्षों पहले जब तुम आए थे, तो जीवन जगमग हो उठा था। जब थे तो उजाला ही उजाला था। अब जब तुम नहीं हो तो मुझे समझ नहीं आता कि क्या करूं? तुम्हारे बगैर मुझे जीना नहीं आता। कभी सोचा नहीं कि ऐसा भी होगा। ये दिन होगा पर तुम नहीं होगे। ढेर सारी चीजें हमने साथ-साथ सीखी। तुम्हारे बिना रहना मैं अकेले कैसे सीखूं? तुम्ही कहो।

हमेशा तुम्हारी
रानी दी

श्वेता सिंह कीर्ति में भी साझा की पोस्ट

सुशांत को याद करते हुए उनकी बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने भी एक पोस्ट साझा की है। इस पोस्ट के साथ बचपन की फोटो साझा की गई है, जिसमें सुशांत सभी बहनों से घिरे नजर आ रहे हैं। श्वेता ने कैप्शन में लिखा है- मेरे स्वीट से बेबी को हैप्पी रक्षाबंधन। बहुत प्यार करते हैं हम आपको जान और हमेशा करते रहेंगे। आप थे, आप हो और आप हमेशा हमारा गर्व रहोगे।

एक भाई की डेढ़ साल की उम्र में हो गई थी मौत

पिछले दिनों श्वेता ने एक पोस्ट में बताया था कि उनके एक भाई की मौत डेढ़ साल की उम्र में हो गई थी। तब श्वेता पैदा भी नहीं हुई थीं। उन्होंने सुशांत को याद करते लिखा था- मुझे अपने परिवार के सदस्यों ने हमेशा बताया कि मम्मी और पापा हमेशा से बेटा चाहते थे। खासकर इसलिए भी, क्योंकि मम्मी की पहली संतान एक बेटा ही था और उन्होंने इसे डेढ़ साल की उम्र में खो दिया था। मैं अपने पहले भाई से कभी नहीं मिली। लेकिन मम्मी-पापा को दूसरे बेटे की बहुत उम्मीद थी।

उन्होंने मन्नत मांगी। दो साल तक मां भगवती की पूजा की। व्रत-उपवास किए, पूजा-हवन किया और धार्मिक जगहों पर जाकर संतों से मिले। लेकिन तब मैं पैदा हुई …दिवाली के दिन। मम्मी ने मुझे हमेशा लकी माना और लक्ष्मीजी कहना शुरू कर दिया। पैरेंट्स लगातार साधना करते रहे और एक साल बाद मेरे छोटे भाई (सुशांत) का जन्म हुआ। शुरू से ही वह आकर्षक था। उसने अपनी सुंदर मुस्कान और चमकीली आंखों से सबको मंत्रमुग्ध कर रखा था।

14 जून को सुशांत ने सुसाइड किया

14 जून 2020 को मुंबई में सुशांत ने सुसाइड कर लिया था। हालांकि, उन्होंने कोई सुसाइड नोट नहीं छोड़ा था। पुलिस जांच में उनके डिप्रेशन में होने की बात सामने आई थी। 25 जुलाई को सुशांत के पिता केके सिंह ने पटना के राजीव नगर पुलिस स्टेशन में उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। सिंह ने रिया पर सुशांत को आत्महत्या के लिए उकसाने और उनके साथ धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है। मामले की जांच बिहार पुलिस कर रही है।

Share