अचानक आयी बारिश बनी मुसीबत, पढ़ें ये खबर

अचानक आयी बारिश बनी मुसीबत, पढ़ें ये खबर

देहरादून। अचानक मौसम ने करवट ली और ज़ोरदार बारिश ने ज़मी को सराबोर कर दिया। जहाँ इस बारिश से थोड़ी राहत मिली तो अचानक हुई ये बरसात कई जगहों पर मुसीबत बनकर भी आयी। आपको बता दें कि उत्तराखंड में मंगलवार तड़के हुई बारिश और तेज हवाओं ने कहर बरपाया। कोटद्वार में मानसून की पहली बारिश से ही गदेरे उफान पर आ गए। वहीं बारिश के पानी में अचानक करंट फैलने से तीन युवकों की मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि कौड़िया और आमपड़ाव के कई घरों में बरसात का पानी भर गया है। लोगों के घरों में लाखों का सामान नष्ट हो गया है। सूचना मिलते ही प्रशासन की टीम भी मौके पर पहुंच गई है। वहीं देहरादून में भी कई जगह पर बारिश से जलभराव हो गया। लोग सुबह से ही घरों से पानी निकालने में लगे रहे। वहीं, ऋषिकेश से उत्तरकाशी मार्ग हिंडोलाखाल में मलबा आने से बंद हो गया। पुलिस के मुताबिक रास्ते को केवल हल्के वाहनों के लिए खोला गया है। भारी वाहनों की एंट्री अभी बंद कर दी गई है। वहीं मलबा आने से बदरीनाथ हाईवे भी बंद है।

देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश, रुड़की समेत गढ़वाल के कई इलाकों में बारिश ने लोगों को गर्मी से राहत दी। लेकिन यहां बाद में धूप निकलने से फिर उमस और गर्मी होने लगी है। वहीं मौसम विभाग ने प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में बुधवार से अगले तीन दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। तीन जुलाई को तीन जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है।

वहीं, चार और पांच जुलाई को सात जिलों में भारी बारिश हो सकती है। भारी बारिश की आशंका को देखते हुए मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। मौसम केंद्र की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार बुधवार तीन जुलाई को नैनीताल, चंपावत और पौड़ी जिले के ज्यादातर क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी बारिश होने के आसार हैं। वहीं, चार और पांच जुलाई को वर्षा का दायरा बढ़ जाएगा। इस दौरान राजधानी देहरादून, टिहरी, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल, चंपावत और ऊधमसिंह नगर में भारी बारिश हो सकती है।
मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि आज राजधानी दून समेत आसपास के इलाकों में बादल छाए रह सकते हैं। कुछ इलाकों में चमक और गरज के साथ बारिश भी हो सकती है। इस दौरान दिन में लोगों को गर्मी और उमस से कुछ राहत मिल सकती है। हालांकि रात को न्यूनतम तापमान में कमी आने के आसार नहीं है।
Share