दिल्ली में गर्मी ने तोड़ा 49 साल का रिकॉर्ड, जीना हुआ मुहाल

दिल्ली में गर्मी ने तोड़ा 49 साल का रिकॉर्ड, जीना हुआ मुहाल

नई दिल्ली। पालम में रहने वालों ने इससे पहले इतनी गर्मी 49 साल पहले झेली थी। मंगलवार को पालम का तापमान 45.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। इसके साथ ही पालम ने गर्मी के ऑल टाइम रिकार्ड की बराबरी कर ली। इससे पहले, पालम क्षेत्र इतना गर्म साल 1970 में था। सफदरजंग का ऑल टाइम रिकॉर्ड साल 1941 में 45.6 डिग्री सेल्सियस का है। राहत की बात यह है कि फोनी तूफान की वजह से गुरुवार से ईस्ट की हवाएं दिल्ली पहुंचेंगी। दिल्ली वालों को इस प्रचंड गर्मी से कुछ राहत मिलेगी। अगले 24 घंटे में गर्मी से बहुत अधिक राहत की संभावना नहीं है। अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

मौसम विभाग के अनुसार, मंगलवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 43.5 डिग्री सेल्सियस रहा। यह सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस अधिक था। लू के थपेड़ों ने बाहर निकलने वालों को परेशान किया। हालांकि, रात के समय तापमान 23 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस कम रहा। दिल्ली का सबसे गर्म क्षेत्र पालम रहा। पालम के अलावा, आया नगर का तापमान 43.8 डिग्री सेल्सियस, जाफरपुर का तापमान 43.4 डिग्री सेल्सियस, मंगेशपुर का तापमान 43 डिग्री सेल्सियस और स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का तापमान 43.8 डिग्री सेल्सियस रहा।

मौसम विभाग का कहना है कि पाकिस्तान और राजस्थान से आ रही गर्म हवाओं की वजह से दिल्ली में इतनी अधिक गर्मी बढ़ गई है। गुरुवार को आंधी आने की संभावना 80 पर्सेंट तक है। मगर, तापमान 40 से 42 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा। स्काइमेट के चीफ मेट्रोलॉजिस्ट महेश पलावत के अनुसार, फोनी जैसे-जैसे ओडिशा की तरफ बढ़ेगा, दिल्ली में ईस्ट की हवाएं पहुंचना शुरू हो जाएंगी। गुरुवार और शुक्रवार को ईस्ट से आने वाली हवाओं की वजह से कुछ बदलाव होंगे। इन हवाओं की वजह से हल्की बारिश और आंधी के आसार बने हुए हैं।

Share