प्रधानमंत्री ने बढ़ाया वैज्ञानिकों का हौसला, कहा- पूरा देश आपके साथ खड़ा है

प्रधानमंत्री ने बढ़ाया वैज्ञानिकों का हौसला, कहा- पूरा देश आपके साथ खड़ा है

बंगलुरू। शनिवार सुबह 8 बजे करीब इसरो के मुख्यालय पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आप लोग हैं जो मां भारती की जय के लिए जूझते हैं। मां भारती के लिए पूरा जीवन खपा देते हैं। अपने सपनों को समाहित कर देते हैं। मैं आपके बीच कल रात रुका। कई रातों से आप सोए नहीं है। उन्होंने कहा साथियों मैं कल रात को आपकी मन स्थिति को समझ रहा था और पढ़ रहा था।

आपका परिश्रम विश्व देख रहा है। रुकावटों से हमारे हौसले और मजबूत हुए हैं। हम अपनी मंज़िल से डिगे नहीं है। भले ही हम अपनी मंज़िल तक नहीं पहुंच पाए। लेकिन हमारा हौसला और मजबूत हुआ है। उन्होंने कहा कि अब कवि अपनी शैली में कहेंगे कि ‘आखिरी क्षणों में  चन्द्रयान चन्द्रमा को गले लगाने के लिए दौड़ पड़ा था।’

उन्होंने कहा कि हमे अपने चंद्रयान मिशन और अपने वैज्ञानिको पर गर्व है। उन्होंने कहा कि पूरा देश वैज्ञानिकों के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि इसरो के साथ रातभर पूरा देश जागा। मोदी ने कहा नयी खोज के अभी कई अवसर बाकी हैं। भारत अपने वैज्ञानिकों के साथ खड़ा है।

उन्होंने वैज्ञानिकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि ‘आप लोग मक्खन पर नहीं पत्थर पर लकीर खींचने वाले लोग हैं।’ परिणामों से निराश ना होकर निरंतर लक्ष्य की ओर बढ़ते रहने की हमारी प्रवृत्ति रही है और यही हमारे संस्कार भी है। हर मुश्किल हर, संघर्ष और हर कठिनाई हमें कुछ नया सिखाकर जाती है। कुछ नया अविष्कार, नई तकनीक के लिए प्रेरित करते हैं और इसी से हमारी आगे की सफलता तय होती है।

उन्होंने कहा कि विज्ञान में विफलता होती ही नहीं है, केवल प्रयोग और प्रयास होते हैं और हर प्रयोग व हर प्रयास ज्ञान के नए बीज बोकर जाता है। नई संभावनाओं की नींव रखकर जाता है। उन्होंने कहा कि चंद्रयान की यात्रा जानदार रही है और शानदार रही है। हमारा ऑर्बिटर अभी भी चांद के चक्कर लगा रहा है। उन्होंने इस मिशन के लिए भारतीय वैज्ञानिकों की हौसला अफजाई की।

उन्होंने इसरो के वैज्ञानिकों को उनकी उपलब्धियां भी गिनायी। उन्होंने कहा कि हमें पीछे मुड़कर नहीं देखना है, निराश नहीं होना है लगातार आगे बढ़ते जाना है। निश्चित तौर पर हम सफल होंगे और कामयाबी हमारे साथ होगी। भारत के सपनों को साकार करने से कोई भी बाधा हमें रोक नहीं सकती। उन्होंने इसरो के वैज्ञानिकों को उनकी भावी योजनाओं के लिए अग्रिम शुभकामनाएं दी।

Share