मौसम ने ली करवट, पहाड़ी इलाकों में बारिश ने बढ़ाई ठंडक

मौसम ने ली करवट, पहाड़ी इलाकों में बारिश ने बढ़ाई ठंडक

देहरादून। उत्तराखंड में बुधवार देर शाम मौसम ने करवट बदली। पहाड़ी इलाकों में बारिश ने ठंड में भी इजाफा कर दिया है। वहीं कई जगह इतनी ओलावृष्टि हुई कि बर्फबारी जैसा नजारा देखने को मिला। पिथौगराढ़ समेत बेड़ीनाग, अस्कोट, डीडीहाट क्षेत्रों में भारी बारिश हुई। इस दौरान वहां खूब ओलावृष्टि भी हुई। पिथौरागढ़, चौकोड़ी में भारी ओलावृष्टि हुई जिससे कई जगह फसल चौपट हो गई।

वहीं चमोली में भी बुधवार को दोपहर बाद अचानक मौसम बदल गया। पोखरी में बारिश के साथ भारी मात्रा में हुई ओलावृष्टि से गेहूं, आलू, मटर और सब्जी की फसलें चौपट हो गई हैं। गोपेश्वर, पीपलकोटी, घाट, नंदप्रयाग क्षेत्र में भी बारिश और ओलावृष्टि हुई। कर्णप्रयाग व आसपास क्षेत्रों में बारिश व ओलावृष्टि से काश्तकारों की खड़ी फसल बर्बाद हो गई।

वहीं बदरीनाथ, हेमकुंड साहिब, फूलों की घाटी, रुद्रनाथ सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हुई, जबकि निचले क्षेत्रों में बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। बर्फबारी और बारिश के कारण यात्रा तैयारियां भी प्रभावित हुईं। मंगलवार को हेमकुंड साहिब के छह किलोमीटर पैदल रास्ते से बर्फ हटाने के लिए सेना के इंजीनियरिंग कोर के 40 जवानों की टीम घांघरिया पहुंच गई थी।

टीम को बुधवार से बर्फ हटाने का काम शुरु करना था, लेकिन बर्फबारी के कारण जवान बर्फ हटाने का काम शुरु नहीं कर पाए।दोपहर बाद मंदाकिनी, केदारघाटी व क्यूंजाघाटी समेत अन्य हिस्सों में जमकर ओलावृष्टि हुई, जिससे फसलों को भारी नुकसान हुआ है।  इसके बाद हुई मूसलाधार बारिश से गाढ़-गदेरों के ऊफान पर आने से रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड राष्ट्रीय राजमार्ग कई जगहों पर बाधित हो गया। एनएच द्वारा हाईवे को दुरस्त कर यातायात बहाल किया गया।

Share