स्विमिंग कोच ने छात्रा से की अश्लील हरकत, हुआ ये अंजाम

स्विमिंग कोच ने छात्रा से की अश्लील हरकत, हुआ ये अंजाम

नई दिल्ली। एक नाबालिग छात्रा की ओर से अश्लील हरकत व छेड़खानी का आरोप लगाए जाने पर गोवा के चर्चित स्विमिंग कोच सुरजित गांगुली को पद से हटा दिया गया है। छेड़खानी की तस्वीरें और विडियो सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे थे। ऐसे ही एक ट्वीट का जवाब देते हुए खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने इस पर ऐक्शन लिए जाने का आदेश दिया था। मंत्री के आदेश के बाद गांगुली को गोवा स्विमिंग असोसिएशन ने पद से हटा दिया है। जल्द ही पुलिस गांगुली को गिरफ्तार करने की कार्रवाई कर सकती है। पीड़िता गांगुली के अंडर में ही स्विमिंग की ट्रेनिंग ले रही थी। खेल जगत को शर्मसार करने वाली इस घटना पर रिजिजू ने कड़े ऐक्शन की बात कही है।

रिजिजू ने एक ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा, ‘स्पोर्ट्स अथॉरिटी की ओर से इस पर कड़ा ऐक्शन लिया जाएगा। यह बेहद गंभीर अपराध है, इसलिए मैं पुलिस से अनुरोध करता हूं कि वह कोच के खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई करे।’ खेल मंत्री के ट्वीट करने के कुछ घंटों में ही आरोपी कोच के खिलाफ ऐक्शन लेते हुए गोवा स्विमिंग असोसिएशन ने उन्हें पद से हटा दिया। इस पर एक और ट्वीट करते हुए खेल मंत्री ने लिखा, ‘मैंने मामले को गंभीरता से उठाया है। गोवा स्विमिंग असोसिएशन ने कोच

सुरजित गांगुली का कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया है। मैं भारतीय तैराकी संघ से कहना चाहता हूं कि ऐसे कोच को देश भर में कहीं भी नियुक्ति नहीं मिलनी चाहिए। यह सभी फेडरेशंस और संगठनों पर लागू होना चाहिए।’ गोवा स्विमिंग असोसिएशन ने भी छेड़खानी के आरोपी कोच को हटाने की पुष्टि की है।

असोसिएशन के सचिव सैयद अब्दुल माजिद ने कहा, ‘विडियो देखने के बाद ही हमने कोच को टर्मिनेट कर दिया है। पीड़ित लड़की और कोच दोनों ही बंगाल के हैं।’ गोवा स्विमिंग असोसिएशन ने करीब ढाई साल पहले गांगुली को अपने मापुसा स्थित सेंटर में कोच के तौर पर नियुक्त किया था। सेक्रटरी माजिद ने कहा, ‘हमने उन्हें इसलिए नियुक्त किया था क्योंकि कोच के तौर पर ट्रैक रिकॉर्ड अच्छा था। उनके खिलाफ कोई शिकायत नहीं थी।’

पश्चिम बंगाल पुलिस ने बताया है कि पीड़िता की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया गया है और अब मामले को गोवा ट्रांसफर किया गया है। कोलकाता के एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘पीड़िता के बयान के आधार पर हमने कल औपचारिक शिकायत दर्ज की थी। यह मामला गोवा पुलिस के अंतर्गत आता है, इसलिए हमने केस को उन्हें ट्रांसफऱ किया है। गोवा पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।’ गौरतलब है कि 2017 में गोवा विधानसभा ने प्रस्ताव पारित कर आरोपी गांगुली और अन्य कोचों को राज्य का स्विमिंग में गौरव बढ़ाने के लिए बधाई भी दी थी।

Share